Follow us:-
Admissions - 2024
सिमेज में सत्र 2023-26 के छात्रों के लिए आयोजित किया गया इन्डक्शन कार्यक्रम | इन्डक्शन कार्यक्रम के दौरान प्रेरणादायक सत्र से उत्साहित हुए छात्र |
  • By Cimage
  • 27-Oct-2023
  • 213

सिमेज में सत्र 2023-26 के छात्रों के लिए आयोजित किया गया इन्डक्शन कार्यक्रम | इन्डक्शन कार्यक्रम के दौरान प्रेरणादायक सत्र से उत्साहित हुए छात्र |

राज्य में जहाँ कॉलेजों में वर्ष 2023 में जहाँ अभी ठीक से नामांकन की प्रक्रिया भी शुरू नहीं हुई है, वहीं सिमेज कॉलेज में न सिर्फ छात्रों का नामांकन शुरू हो चुका है बल्कि छात्रों के 2023-26 सत्र में दो बैच भी बन चुके हैं और आज से उनकी पढ़ाई भी शुरू हो चुकी है | सत्र की विधिवत शुरुआत से पहले आज उनका इंडक्शन कार्यक्रम आयोजित किया गया |  सिमेज द्वारा आयोजित ‘इन्डक्शन 2023’ कार्यक्रम कार्यक्र्म में सत्र 2023-26 के बी.बी.ए., बी.सी.ए., बी.एस.सी.- आई.टी. तथा पी.जी.डी.एम. के सभी छात्र शामिल हुये |

इस अवसर पर छात्रों से खचाखच भरे सिमेज के औडिटोरियम में छात्रों को संबोधित करते हुये सिमेज समूह के निदेशक प्रोफेसर नीरज अग्रवाल ने कहा कि ‘सिमेज में छात्रों को तीन साल लर्नर की भूमिका में रहना है और याद रखना है कि लर्निंग की कोई सीमा नहीं होती है, छात्रों को सीमाओं को चुनौती देनी है और उसके आगे जाना है | उन्होने छात्रों को पी.डी.एफ. यानि पैशन, डेडिकेशन और फोकस   का मंत्र दिया | उन्होने कहा कि जीतने का मतलब किसी दूसरे को हराना नहीं, बल्कि खुद पहले से और बेहतर होना है | जीवन में सफलता पाने के लिए स्किल से ज्यादा ‘विल’ का महत्व हैं | दुनिया में कोई भी काम करना हो तो आपके पास दो जो विकल्प हैं – या तो दृढ इच्छाशक्ति के साथ आगे बढे, या फिर कमज़ोर बहानों की आड़ में असफल हो जाएँ | दुनिया में जो भी लोग सफल हुए हैं, वे अपनी दृढ इच्छाशक्ति के बल पर विपरीत परिस्थितियों का सामना कर के सफल हुए हैं |’

इन्डक्शन कार्यक्रम के दौरान छात्रों का मार्गदर्शन करते हुए सिमेज के निदेशक प्रोफेसर नीरज अग्रवाल ने कहा कि ‘हमारे जीवन में कॉलेज के दौरान बिताये गए समय का काफी महत्वपूर्ण स्थान होता है और कॉलेज के दिनों ने छात्रों को स्वच्छंद होने के बजाये और ज्यादा अनुशाषित होने की जरुरत होती है | क्योंकि छात्रों की ज़िन्दगी में आने वाले अगले तीन साल, भविष्य के लिए बुनियाद का कार्य करेंगे | उन्होंने कहा कि छात्रों को लक्ष्य के प्रति ‘डेडिकेटेड’ (समर्पित) होने की ज़रूरत है |

उन्होंने सिमेज के मूल मंत्र ‘नॉलेज, स्किल और सक्सेस’ का जिक्र करते हुए कहा कि ‘सिमेज का लक्ष्य छात्रों को बेहतर एजुकेशन देने के साथ साथ, उसमे दक्षता भी विकसित करना है, वहीं उन्हें ‘सफल’ बनाना भी है |

इस अवसर पर छात्रों के बीच कुछ ऐक्टिविटीज़ भी आयोजित की गई, ताकि सभी नए छात्र एक दूसरे से परिचित हो सकें और अपनी झिझक तोड़ सकें |

इसके पूर्व कार्यकम की शुरुआत करते हुए सिमेज के डीन प्रोफेसर नीरज पोद्दार में नए छात्रों का कॉलेज में स्वागत किया एवं उन्हें कॉलेज की परंपरा एवं उपलब्धियों से परिचित कराया | उन्होने कहा कि ‘उन्होंने कहा कि सिमेज कॉलेज में छात्रों को ह्युमन वैल्यू एवं भारतीय मूल्यों से जोड़े रखा जाता है| उन्होंने छात्रों को उनकी ज़िम्मेवारियों के प्रति सचेत किया एवं उनके कर्तव्यो का बोध दिलाया | इस अवसर सिमेज की डाइरेक्टर – ऑपरेशन मेघा अग्रवाल,कॉलेज के सभी शिक्षक एवं कर्मचारी भी मौजूद थे |

सिमेज में सत्र 2023-26 के छात्रों के लिए आयोजित किया गया इन्डक्शन कार्यक्रम | इन्डक्शन कार्यक्रम के दौरान प्रेरणादायक सत्र से उत्साहित हुए छात्र |
सिमेज में सत्र 2023-26 के छात्रों के लिए आयोजित किया गया इन्डक्शन कार्यक्रम | इन्डक्शन कार्यक्रम के दौरान प्रेरणादायक सत्र से उत्साहित हुए छात्र |
Why Join CIMAGE?